Contact me हमसे संपर्क करे...

statesmanil `,`, ♥ ↔♥ Feel free to contact me. Your comments and advices are valuable for me. हमसे संपर्क करने में सहज महसूस करें. आपकी टिप्पणियां एवं सुझाव मेरे लिया मूल्यवान है.

हजारों साल पहले मेकअप करते थे आदिमानव

This is article show that showing off or looking good is basic human nature. It is not only found in Human but also found among other species as I come to know by Discovery Channel, National Geography and Animal Planet. That male and or female try to impress to opposite sex by their activities and by making good houses. ... Now real the news story from Jagran
हजारों साल पहले मेकअप करते थे आदिमानव
Published on Jan 12 2010 at 6.54PM Retrieved at 11.45PM
मॉडर्न टाइम में मेकअप पर लोग काफी ध्यान देते हैं। माना जाता है कि मेकअप से खूबसूरती को और भी निखार मिलता है, लेकिन ऐसा नहीं है कि मेकअप मॉडर्न टाइम की ही देन है। आज से करीब 50 हजार साल पहले भी लोग मेकअप करते थे। वैज्ञानिक साइंटिस्ट्स का दावा है कि उन्हें इस बात के प्रमाण मिल चुके हैं कि हजारों साल पहले के निएंडरथल मानव अपनी बॉडी को पेंट से सजाते थे।
सीपियों से निकालते थे रंग
नेशनल एकेडमी ऑफ साइंस में पेश की एक टीम रिपोर्ट में कहा गया है कि निएंडरथल मानव के मेकअप डिब्बों के अवशेषों से इस बात के प्रमाण मिलते हैं कि वे समुद्र में सीपियों से मेकअप करने का रंग निकालते थे। टीम का यह भी मानना है कि इस रिसर्च के बाद यह पक्ष भी निराधार हो जाता है कि निएंथरडल मानव कम अक्ल के होते थे।
बॉडी पेंटिंग से आगे
इस स्टडी में जुटी टीम को लीड कर रहे ब्रिटेन की ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जुओ जिल्हाओ का कहना है कि उनकी टीम के मेम्बर्स ने कुछ समुद्री घोघों के कवच से मिले रंगों और उसके कणों की जांच की है। प्रोफेसर जिल्हाओ का कहना है कि हालांकि अफ्रीका के कुछ हिस्सों में इस बात के प्रमाण पहले ही मिल चुके थे कि आदि मानव किस तरह से कलर्स का यूज अपनी बॉडी पर करते थे। लेकिन इस तरह का प्रमाण पहली बार मिला है कि निएंथरडल मानव इसे अपने मेकअप में यूज करते थे। यह सिर्फ बॉडी पेंटिंग नहीं है बल्कि उससे आगे की चीज है।
बदली धारणा
वैज्ञानिकों को इस रिसर्च के दौरान पीले और लाल कलर के अवशेष भी मिले हैं। इसको निएंथरडल आदि मानव मेकअप से पहले लगाए जाने वाले फाउंडेशन के रूप में यूज करते थे। इस टीम का ये भी मत है कि संभवत: इस तरह के सीपों और घोघों का यूज ज्वैलरीज के लिए भी होता था। रिसर्चर्स का अभी तक यही मानना था कि मेकअप और डेकोरेशन का यूज मॉडर्न ह्यूमन ने ही करना शुरू किया। [जेएनएन]

Share on Google Plus

About Anil Kumar

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 CLICK for COMMENTs प्रतिक्रियाएं....:

Post a Comment