Contact me हमसे संपर्क करे...

statesmanil `,`, ♥ ↔♥ Feel free to contact me. Your comments and advices are valuable for me. हमसे संपर्क करने में सहज महसूस करें. आपकी टिप्पणियां एवं सुझाव मेरे लिया मूल्यवान है.

सात हजार में बेच दिया मासूम Child has been sold for seven thousend

  • This is the cruel face of poverty where one mother sell his child. Thisis incident of Bijnaur, Uttar Pradesh. This is only news which come inlight otherwise there are thousands of cases happening which never conein light. Specially when one "purchase" girl child there are more chance that she will go to "force labour" or "prostitution", when people of Indian will awaken? Itis we I and you and non of other who have to thing to others also andtake action what ever we can by our effort. ...............
  •  Now Read the original story
  • http://in.jagran.yahoo.com/news/local/uttarpradesh/4_1_5937036.html
  • Nov 13, 02:27AM (Online Edition)
  • Retrieved on Nov 14, 2009
  • सात हजार में बेच दिया मासूम: बिजनौर।हल्दौर के ग्राम शरीफपुर में मां के बच्चा बेचने का प्रकरण अभी ठंडा भीनहीं हुआ था कि नगर में एक डेढ़ वर्षीय बच्चे को बेचने का मामला प्रकाशमें आया है। मां मासूम को एक बंगाली महिला के सुपुर्द कर प्रेमी के साथफरार हो गई। इस महिला ने बच्चे को एक नि:संतान दंपति को बेच दिया। बेटे कोपाने के लिए पिता बंगाली महिला और नि:संतान दंपति के घरों के चक्कर लगारहा है। पुलिस का कहना है कि उन्हें मामले की जानकारी नहीं है। इसकीछानबीन कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। ग्राम तिमरपुर निवासी चन्द्रपाल ने अपनी पहली पत्नी जीवनकला की सहमतिसे वर्ष 2006 में रामनगर की सोनिया से दूसरा विवाह किया था। 25 मई 2008 कोसोनिया ने पुत्र को जन्म दिया, जिसका नाम अंकुश रखा गया। सोनिया का गांवके ही एक युवक से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसको लेकर सितंबर में सोनिया काचंद्रपाल से विवाद हो गया। इसके चलते सोनिया 29 सितंबर को डेढ़ साल केमासूम अंकुश को मोहल्ला जुलाहान निवासी बंगाली महिला तारा पत्‍‌नी अब्दुलरशीद के पास छोड़कर अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई। सोनिया के जाने के 12दिन बाद बंगाली महिला ने बच्चे को बेचने के लिए संपर्क किया। यह जानकारीजुलाहान निवासी महमूद ने अपने रिश्तेदार रायपुर सादात के महबूब पुत्रमुन्ना को दी। नि:संतान महबूब और उसकी पत्‍‌नी ने बच्चे के लिए तारा सेसंपर्क किया। तारा ने बच्चे के सात हजार रुपये मांगे। नि:संतान दंपती उसेधन देकर बच्चे को अपने साथ ले गये।
  • उधर, जानकारी मिलने पर चंद्रपाल ने तारा से बच्चा वापस मांगा। उसनेबच्चे के रायपुर सादात में होने की जानकारी दी। पिता वहां बच्चे को लेनेगया तो नि:संतान दंपती ने उसे भगा दिया। अब पिता बेटे को पाने के लिए ताराव नि:संतान दंपति के घरों के चक्कर लगा रहा है।
Share on Google Plus

About Anil Kumar

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 CLICK for COMMENTs प्रतिक्रियाएं....:

Post a Comment